Electric dipole in hindi, electric dipole moment

    ◆विद्युत द्विध्रुव Electric Doople◆

Electric dipole in hindi, electric dipole, electric dipole moment, electric dipole in uniform electric field,
विद्युत द्विध्रुव एक ऐसा निकाय हैं जिसमें दो बराबर तथा विपरीत आवेश एक दूसरे से न्यूनतम दूरी पर स्थित होते हैं।

दोनों आवेशों को मिलाने वाली रेखा जो द्विध्रुव की अक्ष कहलाती है प्रत्येक विद्युत द्विध्रुव में विद्युत आघूर्ण होता है जिसका की भौतिक विज्ञान में अपना महत्वपूर्ण स्थान है विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण का मान एक आवेश के परिमाण एवं दोनों आवेशों के बीच की दूरी के गुणनफल के बराबर होता है तथा यह एक सदिश  राशि है जिसकी दिशा द्विध्रुव की अक्ष के अनुदिश ऋण आवेश से धन आवेश की ओर होती है।

Click here - यह भी पढ़ें

Electric dipole in hindi, electric dipole, electric dipole moment, electric dipole in uniform electric field, electric dipole moment defination, electric dipole in external electric field, electric dipole moment formula, वैद्युत द्विध्रुव
Electric dipole in hindi


  माना विद्युत द्विध्रुव में दो आवेश -q व +q है, तथा उनके बीच की दूरी तो 2l विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण का परिमाण p=q.2l तथा इसकी दिशा द्विध्रुव अक्ष के अनुदिश -q से +q की ओर है।

            द्विध्रुव आघूर्ण का SI मात्रक  (कोलॉम्ब × मीटर) C/m है  तथा इसकी वीमा [ATL] है।  बहुत सारे अणु या यौगिक जैसे HCL, H2O, NH3  विद्युत द्विध्रुव के उदाहरण हैं हम जानते हैं कि प्रत्येक अणु दो या दो से अधिक परमाणुओं से मिलकर बना होता है

                        जिसमें प्रत्येक परमाणु में धन आवेश नाभिक तथा उसके चारों ओर ऋण आवेशित इलेक्ट्रॉन घूम रहे होते हैं सामान्यतः परमाणु में धन आवेश तथा ऋण आवेश के केंद्र संपाती होते हैं अतः प्रत्येक परमाणु का द्विध्रुव आघूर्ण शून्य होता है।

यह भी पढ़े



                   परंतु कुछ अणु में धन आवेशों वह ऋण आवेशों के केंद्र अलग-अलग होते हैं अतः ऐसे अणु में विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण होता है अतः हम कह सकते हैं कि जिन अणुओं के धन तथा ऋण आवेश कुछ दूरी पर स्थित होते हैं विद्युत  द्विध्रुव कहलाते हैं इनके उदाहरण हैं HCL H2O

     यदि किसी परमाणु को विद्युत क्षेत्र में रखा जाए तो उनके धन व ऋण आवेश के केंद्र एक दूसरे के सापेक्ष विपरीत दिशा में विस्थापित हो जाते हैं अर्थात वह परमाणु विद्युत द्विध्रुव बन जाते हैं ।

यह भी पढ़े





              अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगती है तो हमें Comment में जरूर बताएं एवं इस post को अपने दोस्तों तक जरूर Share करें।

Post a comment