Electric line of force in hindi, electric field line, property of electric field lines

Electric line of force विद्युत बल रेखाएं

Electric field line, electric field due to point charge,electric line of force in hindi, electric line of force, electric line of force and it's properties,

हम जानते हैं कि यदि किसी आवेश charge को विद्युत क्षेत्र elctric field में रखा जाता है तो उसमें एक बल का अनुभव होता है इससे पहले हमने विद्युत क्षेत्र के बारे में पढ़ा जिसमें हमने बताया था कि वह क्षेत्र जिसमें कोई आवेश बल का अनुभव करता है विद्युत क्षेत्र अथवा विद्युत बल क्षेत्र कहलाता है ।

   आज हम यहां पर बात करने वाले हैं विद्युत बल रेखाओं के बारे में।

    यदि विद्युत क्षेत्र electric field  में किसी सूक्ष्म परीक्षण धन आवेश small positive test charge को गति करने के लिए स्वतंत्र रखा जाए तो वह उस पर कार्य करने वाले विद्युत बल electric force की दिशा में ही गति करेगा।

यह भी पढ़े



     यह सूक्ष्म धन आवेश जिस पथ path पर गति करेगा उसी को विद्युत बल रेखा electric line of force कहते हैं, यदि इस क्षेत्र की दिशा लगातार बदल रही हो उस पर बल की दिशा भी लगातार बदलती जाएगी जिससे सूक्ष्म परीक्षण धन आवेश के चलने की दिशा भी लगातार बदलती जाएगी ।
      अतः परीक्षण धन आवेश का मार्ग वक्राकार curved हो जाएगा।

Click Here-यह भी पढ़ें


                  अतः विद्युत बल रेखाएं विद्युत क्षेत्र में खींचा गया वह काल्पनिक वक्र imaginary curved है जिस पर विराम अवस्था में मुक्त परीक्षण धन आवेश गति करने का प्रयास करता है।

    विद्युत क्षेत्र के किसी बिंदु पर विद्युत क्षेत्र की तीव्रता एक सदिश राशि है जिसके परिमाण की माप उस बिंदु के परितः खींचे गए प्रति एकांक क्षेत्रफल से अभिलंब गुजरने वाली बल रेखाओं की संख्या से की जाती है तथा दिशा विद्युत बल रेखा के उस बिंदु पर खींची गई स्पर्श रेखा के अनुदिश होती है।

( an electric line of force is that imaginary smooth curve drawn in an electric field along which every isolated positive charge move the tangent drawn at any point on the electric line of force give the direction of the force acting on a positive charge placed at that point)

यह भी पढ़ें

 विद्युत बल रेखाओं के गुण property of of electric field lines


1● विद्युत बल रेखाएं सदैव विलगित isolated धन आवेश से  निकलती हुई तथा ऋण आवेश की ओर जाती हुई प्रतीत होती है।


Electric field line, electric field due to point charge,electric line of force in hindi, electric line of force, electric line of force and it's properties, विद्युत बल रेखाओं के गुण, विद्युत क्षेत्र रेखाओं के गुण, विद्युत बल रेखाएं एक दूसरे को क्यों नहीं काटती, electric line of force physics,electric line of force and it's properties,
Electric lines of force in hindi


2● विद्युत बल रेखाएं सदैव अधिक विभव potential वाले बिंदु से कम विभव वाले बिंदु की ओर जाती है।
Electric field line, electric field due to point charge,electric line of force in hindi, electric line of force, electric line of force and it's properties, विद्युत बल रेखाओं के गुण, विद्युत क्षेत्र रेखाओं के गुण, विद्युत बल रेखाएं एक दूसरे को क्यों नहीं काटती, electric line of force physics,electric line of force and it's properties,
Electric lines of force

3● यदि किसी स्थान पर विद्युत बल रेखाएं पास पास है तो इसका अर्थ है कि वहां पर विद्युत क्षेत्र प्रबल strong होगा परंतु यदि बल रेखाएं दूर दूर स्थित है तो इसका अर्थ है कि विद्युत क्षेत्र भी क्षीण weak होगा।

4● विद्युत बल रेखा के किसी बिंदु पर खींची गई स्पर्श रेखा उस बिंदु पर विद्युत क्षेत्र की दिशा तथा उस बिंदु पर धन आवेश पर कार्य करने वाले बल की दिशा को प्रदर्शित करती है।

5● कोई भी दो बल रेखाएं एक दूसरे को कभी नहीं काट सकती क्योंकि यदि वे एक दूसरे को काटती है तो कटान बिंदु पर दो स्पर्श रेखाएं खींची जा सकती है जो कि असंभव है क्योंकि इससे एक ही बिंदु पर दो दिशाएं प्रकट हो जाएगी।

Electric field line, electric field due to point charge,electric line of force in hindi, electric line of force, electric line of force and it's properties, विद्युत बल रेखाओं के गुण, विद्युत क्षेत्र रेखाओं के गुण, विद्युत बल रेखाएं एक दूसरे को क्यों नहीं काटती, electric line of force physics,electric line of force and it's properties,
Electric lines of force

6● विद्युत बल रेखाएं सदैव खुले वक्रों open curve के रूप में होती है।

Click here - यह भी पढ़ें

7● समान दूरी पर स्थित समांतर बल रेखाएं एक समान विद्युत क्षेत्र को प्रकट करती है जबकि असमान दूरी पर स्थित बल रेखाएं असमान विद्युत क्षेत्र को प्रकट करती हैं।

8● विद्युत बल रेखाएं लंबाई की दिशा में सिकुड़ने की प्रवृत्ति tendency to contract in length रखती है इसका अर्थ है कि विपरीत आवेशों में आकर्षण होता है।

9● विद्युत बल रेखाएं लंबाई की लंबवत दिशा में एक दूसरे से दूर हटने की प्रवृत्ति रखती है इसका मतलब है कि समान आवेशों के बीच प्रतिकर्षण होता है।


यह भी पढ़े





                  अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगती है तो हमें Comment में जरूर बताएं एवं इस post को अपने दोस्तों तक जरूर Share करें।

Post a Comment