नई शिक्षा नीति 2019 - New Education policy in hindi

New Education Policy नई शिक्षा नीति 2019

New Education Policy, नई शिक्षा नीति, new education policy 2019, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2019new education policy 2019 in hindiनई शिक्षा नीति इन हिंदी, new education policy b.ed, what is new education policy,

                  नई शिक्षा नीति के तहत शैक्षिक नियमों में बड़ा बदलाव किया गया है और शिक्षक बनने की प्रक्रिया में काफी बदलाव किया गया है  जिसके तहत शिक्षक बनना आसान नहीं होगा और साथ ही साथ B.ED course में भी बड़ा बदलाव किया गया है।

🔴नई शिक्षा नीति B.ED Course🔴

🔷4th year B.ed course after 12th🔷

यदि आप B.ed 12वीं के बाद करना चाहते हैं तो आपके लिए B.Ed कोर्स 4 साल का होगा इसके अंतर्गत 4 साल में आपको ग्रेजुएशन की डिग्री और साथ ही साथ B.Ed की डिग्री भी प्राप्त हो जाएगी ।

 12th आपका जिस subject से होगा यानि Arts अथवा science तो  उसी के subject की आपको यहाँ पर  डिग्री मिलेगी। 

                        यदिआपका 12th science से है  तो आपको B.Sc की डिग्री प्राप्त होगी और साथ में B.Ed की डिग्री भी प्राप्त होगी और यदि आपका 12th Arts से  है तो आपको बीए की डिग्री और साथ ही  B.Ed की डिग्री प्राप्त होगी । इस 4 वर्षीय बीएड कोर्स के तहत आपका Graduation भी complete  हो जाएगा।


🔷योग्यता(Eligiblity)🔷
इस 4 वर्षीय बीएड कोर्स के लिए आपके 12th में GEN student  के 50% तथा ओबीसी और एससी ,ST student के 45% मार्क्स होने अनिवार्य है 


🔸Process🔸 4 वर्षीय  B.Ed के लिए या तो entrence exam आपको qualified करना होगा या  marit base system के तहत आप 4 वर्षीय B.Ed में admission ले सकते हैं जैसे कि graduation में Admission लेने की प्रक्रिया थी।      

                        यह इस पर depend करता है कि जब नई शिक्षा नीति संपूर्ण रूप से लागू हो जाएगी और सभी यूनिवर्सिटी नई शिक्षा नीति को लागू कर देंगी औऱ साथ ही साथ यह university के नियमों पर भी depend करेगा क्योंकि कुछ university marit के आधार पर admission कराती है जबकि कुछ entrance exam के आधार पर।


🔹फायदे- 4 वर्षीय बीएड में सबसे अधिक फायदा यह है कि जो अभ्यर्थी टीचिंग लाइन में जाना चाहते हैं बीएससी के बाद B.Ed करें तो उनके लिए B.ed और बीएससी मिलाकर 5 साल का कोर्स हो जाता है ।

       लेकिन 12th के बाद B.Ed करने पर बीएससी और B.Ed कोर्स मिलाकर 4 साल में complete हो जाएगा जिसमें आपका 1 साल बच जाएगा ।


🔷2 year bed course after graduation🔷

यदि आपने 12th के बाद B.Sc में एडमिशन ले लिया है तो B.Sc complete होने के बाद आप B.ed करना चाहते हैं तो आपको 2 साल का B.Ed कोर्स करना पड़ेगा। 

   यह उन student के लिये करना अनिवार्य हो गया है जो कि अभी बीएससी में है। 

🔹योग्यता(eligible) - GEN student -50%marks in graduation
SC,OBC,ST-45% marks in graduation


🔸Process (प्रक्रिया)- बीएससी के बाद B.Ed करने के लिए आपको किसी university का  B.Ed का entrance exam देना होता है जो कि प्रत्येक साल होता है उसमें Qualified होने पर आपको काउंसलिंग process में participate करना होता है ।

और उसके बाद यदि आपका मेरिट लिस्ट में नाम आता है तो तब जाकर आप उस यूनिवर्सिटी में B.Ed में एडमिशन ले सकते हैं।



🔶1 year B.ED course after Post Graduation🔶

यदि आपने Graduation के बाद post graduation कर लिया है और अब यदि आप Bed करना चाहते हैं तो आपके लिए B.Ed कोर्स यहां पर 1 साल का होगा। 

इससे पहले पोस्ट ग्रेजुएशन वालों के लिए भी B.Ed 2 साल का हुआ करता था लेकिन नई शिक्षा नीति के तहत इसमें परिवर्तन करके इसे 1 साल का कर दिया गया है जोकि post graduation करने वाले स्टूडेंट के लिए बड़ा ही फायदेमंद होगा।


🔹Eligibility-
ug and pg -50% GEN student
45%- OBC,ST,SC

🔸फायदे -1. lecturer की post के लिये apply कर सकते हो।
2.पहले की अपेक्षा bed 1 साल में होगा


⚫शिक्षक बनने की प्रक्रिया⚫

नई शिक्षा नीति के अनुसार शिक्षक बनने की प्रक्रिया में बड़ा बदलाव किया गया है शिक्षक तीन प्रकार के होते हैं प्राइमरी  शिक्षक,माध्यमिक शिक्षक लेक्चरर । 

             इसमें प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती डीएलएड के आधार पर होती थी लेकिन नई शिक्षा के तहत DLED course को हटा दिया गया है तो अब सभी शिक्षकों की भर्ती B.Ed कोर्स के आधार पर होगी -


  • 1.TET qualified
  • 2, Entrance exam
  • 3.साक्षात्कार
  • 4, Demo, skill test


🔵नई शिक्षा नीति 2019 मुख्य बिंदु


  • 1-12वीं के बाद बीएड चार साल, graduation के बाद दो साल post graduation के बाद bed एक वर्ष का होगा।

  • 2.टीचर नियुक्तियों में साक्षात्कार अवश्य लिया जायेगा।

  • 3.शिक्षक छात्र अनुपात 25-1;30-1

  • 4.शिक्षा मित्र,पैरा टीचर,गेस्ट टीचरों की नियुक्ति नही होगी.

  • 5.प्रमोशन में  विभागीय परीक्षा।

  • 6.ऑनलाइन मूल्यांकन।

  • 7.दोपहर के भोजन के अतिरिक्त छात्रों को breakfast भी मिलेगा।

  • 8.अध्यापक पात्रता परीक्षा(TET) के बिना private schools में भी नियुक्त नही होंगे शिक्षक।

  • 9.देश भर में लगभग 10 लाख teachers के खाली पड़े पदों को भरा जायगा।



Tag:- New Education Policy, नई शिक्षा नीति, new education policy 2019, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2019, new education policy 2019 in hindi, नई शिक्षा नीति इन हिंदी, new education policy b.ed, what is new education policy, bed course in new education policy, one year bed course, two year bed course

Post a comment