Types of motion गति के प्रकार Types of motion in hindi

Types of motion (गति के प्रकार):- 

 यदि कोई वस्तु समय Time के साथ अपनी स्थिति Position को बदलता है तो उसी गति Motion कहते हैं अर्थात समय time के साथ वस्तु की स्थिति के बदलने change of position को ही गति कहते हैं,

                  हमारे दैनिक जीवन daily life में हम अनेक वस्तुओं को देखते हैं जो कि हमें गति करती हुई प्रतीत होती है अर्थात समय के साथ स्थिति परिवर्तन को ही गति कहा जाता है position change with time is known as motion

गति के उदाहरण :-   व्यक्ति का चलना, पक्षी का उड़ना, पटरी पर दौड़ती रेलगाड़ी, सड़क पर दौड़ती बस एवं कार, अगर हम सबसे सामान्य शब्दों में कहें तो किसी वस्तु के चलने को ही गति कहा जाता है।


Types of motion गति के प्रकार
Types of motion गति के प्रकार

गति को मुख्यतः निम्न दो प्रकार से बांटा गया है Types of motion (गति के प्रकार)
2. वीमा के आधार पर (On the basis of the number of coordinates)
यहां पर हम गति motion को दो आधार पर विभाजित divide करके अध्ययन करेंगे।


यह भी पढ़े

📂 गति के प्रकार Types Of Motion
📂न्यूटन के गति के नियम
📂वेक्टर के जोड़ का नियम
📂Linear Momentum in hindi
📂गति की समीकरणे Equation Of Motion
📂सदिश के 10 प्रकार


1. वस्तु के पथ के प्रकृति के आधार पर (on the basis of the nature of path)

वस्तु Object अथवा कण Particle के प्रकृति Nature के आधार पर गति तीन प्रकार three types of motion की होती है
1. स्थानांतरित गति (Translatory motion)
2. घूर्णन गति (Rotational motion)
3. दोलनी गति (Vibrational motion )
यहां पर तीनों प्रकार की गतियां का विस्तारपूर्वक वर्णन किया गया है।



1. स्थानांतरित गति (Translatory motion):-

  यदि कोई वस्तु अथवा कण एक सरल रेखा में गति करता है अथवा किसी निर्देश तंत्र के सापेक्ष एक जगह से दूसरी जगह पर गति करता है तो उसे स्थानांतरित गति Translatory motion कहते हैं ।

             इस गति को सरल रेखीय गति अथवा ऋजुरेखीय गति linear motion भी कहा जाता है क्योंकि यह गति किसी सीधी रेखा में किसी वस्तु की स्थिति परिवर्तन को दर्शाती है।
उदाहरण:- किसी आनत तल पर गेंद की गति।
Click here-यह भी पढ़ें


2. घूर्णन गति(Rotational motion):-

   यदि कोई वस्तु किसी निश्चित बिंदु Point के चारों तरफ गति करता है तो उसे घूर्णन गति कहते हैं घूर्णन मतलब घूमने वाली गति से है इसे सामान्यता वृत्तीय गति Circular motion भी कहा जाता है क्योंकि वृत्तीय गति Circular motion में भी कोई कण किसी एक बिंदु के चारों तरफ घूमता है ।  जैसे :- पंखे का घूमना, लट्टू का घूमना,  घूर्णन गति के उदाहरण है।


3. दोलनी अथवा कम्पनिक की गति(Vibrational motion):-

 यदि कोई वस्तु किसी निश्चित बिंदु अथवा साम्य स्थिति Equilibiriam position के इधर उधर एक ही निश्चित पथ  definit path पर गति motion करती है तो उसे कम्पनिक vibrational motion या दोलन गति कहते हैं।
जैसे:- झूला झूलती लड़की, दोलन घड़ी,  स्प्रिंग से लटके द्रव्यमान की ऊपर नीचे गति



2. विमा के आधार पर भी गति को तीन भागों में विभाजित किया गया है(based on dimensions)

1. एक विमीय गति (One dimensional motion)
2.द्विविमीय गति (Two Dimensional motion)
3. तीन विमीय गति (Three Dimensional motion)
वीमा dirction or dimension के आधार पर गतियों को नीचे विस्तारपूर्वक समझाया गया है


यह भी पढ़े

📂 गति के प्रकार Types Of Motion
📂न्यूटन के गति के नियम
📂वेक्टर के जोड़ का नियम
📂Linear Momentum in hindi
📂गति की समीकरणे Equation Of Motion
📂सदिश के 10 प्रकार


1. एक विमीय गति(One Dimensional motion):-

 यदि कोई वस्तु object एक सरल रेखा अथवा सीधी रेखा के अनुदिश गति करती है तो इसे एक विमीय गति one dimensional motion कहा जाता है।
 इस प्रकार की गति में केवल एक ही अक्ष अथवा एक ही दिशा के बारे में बात की जाती है।


 इस गति में केवल एक चर one variable के बारे में बताया जाता है।
 इस प्रकार की गति में केवल दो ही दिशा होती है एक अग्र दिशा forward direction एवं दूसरी पश्च दिशा backward direction.

इसका अभिप्राय यह है कि इस प्रकार की गति में केवल वस्तु या तो x-दिशा के अंतर्गत करें अथवा y, या z, में से किसी एक दिशा के अंतर्गत गति करें।
जैसे:- सीधी रेखा में व्यक्ति का चलना, पटरी पर रेलगाड़ी Train का चलना।



2. द्विविमीय गति (Two Dimensional motion)

 यदि कोई वस्तु object एक समतल Plan पर चलती है तो गति को द्विविमीय गति 2D motion कहते हैं ।
इस प्रकार की गति में दो अक्षों के निर्देशकों के सापेक्ष परिवर्तन होता है जैसे x-y तल में गति, y-z तल में गति या z-x तल में गति
उदाहरण:- झील में चलती हुई नाव,  फर्श पर रेंगती हुई चींटी।



3. त्रिविमीय गति (Three Dimensional motion):- 

यदि कोई वस्तु मुक्त आकाश में गति करती है तो इसे तीन विमीय गति कहते हैं, इस प्रकार की गति में तीनों निर्देशांक (x,y,z) समय के साथ परिवर्तित होते हैं। जैसे:- आकाश में उड़ता पक्षी flying birds, एक बर्तन में गैस के अणुओं की गति motion of gas molecules.

गति के सम्बन्धित FAQ Types of motion FAQ:-

1.What is the 3 types of motion?

जब हम गति को सामान्यतः तीन भागों में विभाजित करने की बात करते हैं तो इसे वस्तु के कण की प्रकृति के आधार पर विभाजित कर लेते हैं, जैसे स्थानांतरित translatory motion  गति जब कोई वस्तु किसी सीधी रेखा अथवा वक्रीय पथ में समय के साथ अपनी स्थिति को परिवर्तित करती है, 

       घूर्णन गति rotational motion  जिसमें कोई वस्तु किसी एक बिंदु के चारों तरफ घूम रही होती है जैसे पंखे का घूमना,  दोलन गति oscilattory motion जब कोई वस्तु एक ही बिंदु के इर्द-गिर्द गति करती हैं जैसे दोलन घड़ी।


2.What causes motion?

गति करने के लिए बल की आवश्यकता होती है force is necessary to motion कोई भी वस्तु केवल तभी गति कर सकती है जबकि उस पर कोई बाह्यः बल external force न लगाया जाए,

 यह न्यूटन के प्रथम नियम first law of motion से संबंधित है जब तक कि वस्तु पर बाह्यः बल न लगाया जाए तब तक या वस्तु स्थिर रहेगी या वह एक समान वेग से गति करती रहेगी,

अर्थात हम कह सकते हैं कि बल वह कारक factor है जो किसी वस्तु को गति करने प्रेरित inspire करता है या उसे गति करने के लिए मजबूर helpless कर देता है।

3.How can we describe motion?

आप गति का वर्णन किसी वस्तु की दूरी, distance विस्थापन, displacement दिशा, direction चाल, speed वेग velocity एवं त्वरण acceleration के पदों में कर सकते हैं इन सभी के बारे में आपको पहले ही बताया जा चुका है

4.What are the different types of motion in physics?

भौतिकी में गति को सामन्यतः 6 भागों में विभाजित किया गया है जिसके बारे में हम पहले ही ऊपर विस्तार detail में बता चुके हैं, वास्तव में देखें तो गति एक गणितीय पद motion is mathmatical interperation है जिसे समय के साथ दूरी distance, विस्थापन displacement, चाल speed, वेग velecity, त्वरण acceletaion के पदों में व्यक्त किया जाता है।

5.What is called motion?

गति motion का अर्थ है यही कोई वस्तु समय के साथ अपनी स्थिति position में परिवर्तन कर रही है अर्थात इस शर्त के लिए वस्तु को किसी बाह्यः बल external force की आवश्यकता होगी वस्तु का अपनी स्थिति को परिवर्तन करना ही गति है।

6.How do you measure motion?

 हम गति का निर्धारण का माप वस्तु object की स्थिति से कर सकते हैं जो कि समय के साथ बदल सकती है। अतः वस्तु की समय के साथ स्थिति परिवर्तन position change with time ही गति का निर्धारण है।

➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖
यह भी पढ़े


➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖


  अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगती है तो हमें Comment में जरूर बताएं एवं इस post को अपने दोस्तों तक जरूर Share करें।
             

5 Comments

Post a comment